Thursday, 5 March 2015

Cartoons On Holi by Mihir- Pawan Prawah

एक तो होली स्वयं में त्यौहारों का राजा है- अपने ढंग का, मौज- मस्ती का, हंसी खुशी का शानदार त्यौहार। ऊपर से उत्तर प्रदेश। नि:संदेह इन दोनों का मिलना सोने पे सुहागा उत्तर प्रदेश की भूमि-रंगत और उमंग की भूमि, मतवाले, दिलदार, खुशमिजाज, मनमौजी लोगों की धरा। ठीक वैसी जिसमें होली का रंग दोगुना, चार गुना नहीं बल्कि कई गुना बढ़ जाये। ऐसे में हमारी गेस्ट कल्चरल एडीटर शुभांगी ने राजनीतिक घटनाक्रम के साथ होली के इन्द्र धनुषी रंग बिखेरे हैं।  पवन प्रवाह अपने सुधि पाठकों के लिए रंगों का गुलदस्ता भेंट कर रहा है। बुरा न मानो होली हैं...
पिचकारी ले हाथ में खड़े मियां अखिलेश
चाचा ताऊ पिता से नहीं मिला आदेश
अर्जियां लाख लगाएं
जोगीरा फगुआ गायें......
यूपी और बिहार में लालू की सरकार
बहुत दिनों के बाद में
खुशियों की बौछार
भैंस जो पूंछ उठाये
जोगीरा फगुआ गायें.....
अन्ना जी के मंच पर डटे केजरीवाल
चारों गालों पर मिहिर सबने मला गुलाल
चलो झांडू़ लहराये
जोगीरा फगुआ गायें.....
हाथी ने अंडा दिया जब-जब हुआ चुनाव
लोकसभा को देख लो या दिल्ली का दांव
बहन जी पर्स हिलाए
जोगीरा फगुआ गायें.....
कई महीनों तक मिले महबूबा-महबूब
शादी से पहले हुआ हां-हां-ना-ना खूब
कुर्सी क्या नाच नचाए
जोगीरा फगुआ गायें......
दिल्ली में फगुआ हुआ जमकर हुआ धमाल
मोदी खिसियाये खड़े हंसे केजरीवाल
जोगीरा -हा-हा-हा.....
सारी सेना पिट गयी
लहर आयी काम
दिल्ली के संग्राम में सूट हुआ नीलाम
व्यापारी दाम लगाये
जोगीरा फगुआ गायें.....
नींद खुली नीतीश की
लगे नोचने बाल
कठपुतली के हाथ जब मलने लगे गुलाल
बयान तूफान मचाये
जोगीरा फगुआ गायें....
राजनाथ ने भांग के गोले किये तैयार
लेकिन मोदी ने किया चखने से इनकार
चाटुकारी कुछ काम आये
जोगीरा फगुआ गायें....

केयर शहर की जो करें
क्या दिन हो क्या रात
ऐसे मेयर दिनेश हैं बहुरंगी सौगात
बुलाओ जब भी आयें
जोगीरा फगुआ गायें.....

राजग है जब-जप रही
भू अधिग्रहणी राग
रागा-मंथन मनन को
गये कहां हैं भाग
सोनिया ढूंढ़ पायें
जोगीरा फगुआ गायें......
खड़ीं सोनिया सोंचतीं हाय हमारा लाल
बहू अब तक ला सका किस पर मले गुलाल
हाल किसको बतलाये
जोगीरा फगुआ गायें......

No comments:

Post a Comment